विलोम शब्द

विलोम का अर्थ है ‘विपरीत’। शब्द भण्डार भाषा की विकसित अवस्था का सूचक होता है। किसी भाषा में एक प्रकार की स्थिति के लिए एक शब्द विशेष प्रचलित होता है, जबकि उससे विपरीत स्थिति का बोध कराने हेतु शब्द विशेष का प्रचलन होता है। इसे इस उदाहरण से समझा जा सकता है। यथा आनंद के लिए ‘हर्ष’ शब्द प्रचलित है तो इससे विपरीत स्थिति का बोध कराने हेत ‘शोक’ शब्द प्रचलित है। जैसे –

  1. उपसर्ग लगाकर बनने वाले

(i) ‘अ’ उपसर्ग लगाकर

चल – अचल,      चेतन – अचेतन,    छूत – अछूत

थाह – अथाह,      ग्राह्य – अग्राह्य,   क्षर – अक्षर

(ii) ‘अन्’ उपसर्ग लगाने से

एक – अनेक,      अभिज्ञ – अनभिज्ञ,  अर्थ – अनर्थ

आवृत्त – अनावृत्त, आहूत – अनाहूत,   आर्य – अनार्य

(iii) ‘अप’ उपसर्ग लगाने से-

यश – अपयश,     कीर्ति -अपकीर्ति,

मान- अपमान,     शकुन – अपशकुन

(iv) ‘दुर्’ उपसर्ग के लगाने से-

दशा – दुर्दशा, आशा – दुराशा

(v) ‘वि’ उपसर्ग के योग से

क्रय – विक्रय,      पक्ष – विपक्ष,      सम – विषम,

तृष्णा – वितृष्णा,   देश – विदेश

(vi) ‘कु’ उपसर्ग के योग से-

रूप – कुरूप, पुत्र – कुपुत्र

(vii) ‘पर’ उपसर्ग के योग से-

देशी – परदेशी, लोक – परलोक

(viii) ‘अव’ उपसर्ग के योग से-

गुण – अवगुण

(ix) ‘औ’ उपसर्ग के योग से-

गुण – औगुण

(x) ‘प्रति’ उपसर्ग के योग से

क्रिया – प्रतिक्रिया, घात – प्रतिघात,    वादी – प्रतिवादी

(xi) ‘निर्’ उपसर्ग के योग से

आशा – निराशा,    आदर – निरादर,    आमिष – निरामिष

(xii) ‘परा’ उपसर्ग के योग से-

जय – पराजय

(xiii) ‘क’ उपसर्ग के योग से-

पूत – कपूत

(xiv) ‘निस्’ उपसर्ग के योग से

छल – निश्छल,    फल – निष्फल,    सन्देह – निस्संदेह

 

  1. उपसर्ग बदलने से
  2. ‘स’ के स्थान पर ‘निर्’-

सजीव – निर्जीव,    सदोष – निर्दोष,    सार्थक – निरर्थक

  1. ‘स’ के स्थान पर ‘वि’-

सधवा – विधवा

  1. ‘सु’ के स्थान पर ‘कु’

सुपात्र – कुपात्र,     सुयोग – कुयोग,    सुरीति – कुरीति

  1. ‘सत्’ के स्थान पर ‘दुर्’-

सदाचार – दुराचार, सदुपयोग – दुरुपयोग

  1. ‘अ’ के स्थान पर ‘सु’-

अकाल – सुकाल,    अरुचि – सुरुचि

  1. ‘अ’ के स्थान पर ‘प्र’-

अवर – प्रवर

  1. ‘सु’ के स्थान पर ‘दुर्’-

सुबोध – दुर्बोध

  1. ‘पूर्व के स्थान पर ‘पर’-

पूर्ववर्ती – परवर्ती

  1. ‘सम्’ के स्थान पर ‘वि’-

संकल्प – विकल्प,  सम्पन्नता- विपन्नता

  1. ‘अनु’ के स्थान पर ‘वि’-

अनुराग – विराग

  1. ‘अ’ के स्थान पर ‘स’-

अनाथ – सनाथ

  1. ‘आ’ के स्थान पर ‘प्र’-

आदान – प्रदान

  1. ‘उत्’ के स्थान पर ‘अप’-

उत्कर्ष – अपकर्ष

  1. ‘उप’ के स्थान पर ‘पर’-

उपसर्ग – परसर्ग

  1. वि’ के स्थान पर ‘परा’-

विभव – पराभव,    विजय – पराजय

  1. ‘स्व’ के स्थान पर ‘पर’-

स्वार्थ – परार्थ,     स्वतन्त्र – परतन्त्र

  1. ‘स’ के स्थान पर ‘दुर्’-

सबल – दुर्बल

  1. ‘स’ के स्थान पर ‘क’-

सपूत – कपूत

  1. ‘अनु’ के स्थान पर ‘प्रति’-

अनुकूल – प्रतिकूल,  अनुलोम – प्रतिलोम

  1. ‘उत्’ के स्थान पर ‘नि’-

उत्कृष्ट- निकृष्ट

  1. ‘उत्’ के स्थान पर ‘अव –

उन्नति – अवनति

  1. ‘सम्’ के स्थान पर ‘अप’-

सम्मान – अपमान

  1. ‘उप’ के स्थान पर ‘अप’-

उपकार – अपकार, उपचय – अपचय

  1. आविर् के स्थान पर ‘तिरो’-

आविर्भाव – तिरोभाव, आविर्भूत – तिरोभूत

  1. ‘अन्तर् के स्थान पर ‘बहिर्’-

अन्तरंग – बहिरंग, अन्तर्भाव – बहिर्भाव

 

  1. लिंग परिवर्तन से

लड़का – लड़की,    मोर – मोरनी,      सेठ – सेठानी     

कवि – कवयित्री,    विद्वान – विदुषी,   हाथी – हथिनी

कुत्ता – कुतिया

  1. स्थायी या निश्चित

 

शब्दविलोम शब्दशब्दविलोम शब्द
अवनिअम्बरअर्पणग्रहण
अग्रपश्चअनिवार्यऐच्छिक
अमृतविषअथइति
अधमउत्तमअर्वाचीनप्राचीन
आयव्ययआरम्भअन्त
कृपणउदारउत्थानपतन
उग्रसौम्यउत्तरदक्षिण
दुर्जनसज्जनगुरुलघु
ग्राह्यत्याज्यगृहस्थसंन्यासी
तामसिकसात्विकतीव्रमंथर
दिनरातदीर्घहस्व
निन्दास्तुतिनिंद्यवंद्य
बद्धमुक्तमिथ्यासत्य
यथार्थआदर्शयोगीभोगी
राजारंकलाभहानि
शोकहर्षसात्विकतामसिक
नैसर्गिककृत्रिमअग्रपश्च
अगलापिछला  

 

शब्दविलोम शब्दशब्दविलोम शब्द
अघोषसघोषअतिवृष्टिअल्पवृष्टि
अथइतिअधमउत्तम
अधिकन्यूनअनुजअग्रज
अपनापरायाअपराधीनिरपराध
अभ्यन्तरबाह्यअर्थअनर्थ
अभिज्ञअनभिज्ञअल्पायुदीर्घायु
अल्पसंख्यकबहुसंख्यकअस्वस्थस्वस्थ

 

शब्दविलोम शब्दशब्दविलोम शब्द
आकाशपातालआजादीगुलामी
आधारनिराधारआंतरिकबाह्य
व्ययआयआरम्भअन्त
आर्द्रशुष्कआशानिराशा
आदरनिरादरआशीषदुराशीष
आसक्तअनासक्तआस्थाअनास्था
आज्ञाअवज्ञा  

 

शब्दविलोम शब्दशब्दविलोम शब्द
उचितअनुचितउत्कर्षअपकर्ष
उत्तमअधमउदयअस्त
उदारअनुदारउधारनकद
उन्मुखविमुखउन्मूलनरोपण
उन्नतअवनतउपकारअपकार

 

शब्दविलोम शब्दशब्दविलोम शब्द
एकअनेकऔपचारिकअनौपचारिक

 

शब्दविलोम शब्दशब्दविलोम शब्द
    
कदाचारसदाचारकोमलकठोर
कृतज्ञकृतघ्न  

 

शब्दविलोम शब्दशब्दविलोम शब्द
खण्डनमण्डनखराखोटा
खलसज्जनखाद्यअखाद्य
खिलनामुरझानाखुलाबन्द

 

शब्दविलोम शब्दशब्दविलोम शब्द
गुप्तप्रकटगुणदोष
गरिमालघिमागौरवलाघव

 

शब्दविलोम शब्द
घाटामुनाफा

 

शब्दविलोम शब्दशब्दविलोम शब्द
चढ़ावउतारचतुरमूढ़/मूर्ख
चिरन्तननश्वरचिरायुअल्पायु
चेतनजड़  

 

शब्दविलोम शब्दशब्दविलोम शब्द
जड़चेतनजयपराजय
जराशैशवजातिविजाति

 

शब्दविलोम शब्दशब्दविलोम शब्द
झगड़ालूशान्तझूठसच

 

शब्दविलोम शब्दशब्दविलोम शब्द
तिरस्कारसत्कारतुच्छमहान
तेजस्वीनिस्तेज  

 

 

शब्दविलोम शब्दशब्दविलोम शब्द
दयालुनिर्दयदरिद्रसम्पन्न
द्वन्द्वनिर्द्वन्द्वदक्षिणवाम/उत्तर
दीर्घकायकृशकायदुर्जनसज्जन
दुर्बलसबलदुराशयसदाशय
दोषनिर्दोष  

 

शब्दविलोम शब्द
धनीनिर्धन

 

शब्दविलोम शब्दशब्दविलोम शब्द
नश्वरअनश्वरनिडरकायर, डरपोक
निन्दास्तुतिनिरपेक्षसापेक्ष
निर्गुणसगुणनिर्दयसदय
निर्ममसहृदयनिजीसार्वजनिक

 

शब्दविलोम शब्द
पाश्चात्यपौर्वात्य

 

शब्दविलोम शब्द
फलनिष्फल

 

शब्दविलोम शब्द
बैरप्रीति

 

शब्दविलोम शब्दशब्दविलोम शब्द
मधुरकटुममतानिष्ठुरता/घृणा
महात्मादुरात्मा मादानर
मानअपमानमानवदानव
मितव्ययीअपव्ययीमुख्यगौण
मूकवाचाल  

 

शब्दविलोम शब्द
याचक दाता

 

शब्दविलोम शब्द
रोगीनीरोग

 

शब्दविलोम शब्दशब्दविलोम शब्द
विधवासधवाविधिनिषेध
विपन्नसम्पन्नविरागअनुराग
विशिष्टसामान्य/साधारणविस्तृतसंक्षिप्त
विस्मरण स्मरणविज्ञअज्ञ
व्यष्टिसमष्टि  

 

शब्दविलोम शब्दशब्दविलोम शब्द
शाश्वतनश्वर/क्षणिकशीतउष्ण

 

शब्दविलोम शब्दशब्दविलोम शब्द
सकामनिष्कामसजलनिर्जल
सक्रियनिष्क्रियसजातीयविजातीय
सत्कारतिरस्कारसद्भावनादुर्भावना
सज्जनदुर्जनसमविषम
सम्मुखविमुखसरसनीरस
समष्टिव्यष्टिसर्वज्ञअल्पज्ञ
संन्यासीगृहस्थसाकारनिराकार
सामान्यविशेषसूक्ष्मस्थूल
सौम्यउग्रस्वतन्त्रपरतन्त्र

 

शब्दविलोम शब्द
हर्षविषाद/शोक

 

 

Facebook Comments