समोच्चारित भिन्नार्थक शब्द (शब्द-युग्म)

विश्व की प्रायः सभी भाषाओं में अनेक शब्द ऐसे होते हैं, जिनके उच्चारण में तो अत्यल्प भिन्नता होती है, परंतु अर्थ की दृष्टि में वे शब्द बिलकुल भिन्न होते हैं। यदि प्रयोक्ता को ऐसे शब्द-युग्मों के अंतर का ज्ञान नहीं होगा तो अर्थ का अनर्थ या विकृत अर्थ हो जाएगा जो समाज के लिए घातक सिद्ध होगा।

 

अकथ : कुछ कहा न जा सकेअथक : जो थके नहीं
अकुल : बिना कुल केआकुल : व्याकुल
अकूत : बिना अंदाजआकूत: अभिप्राय
अग : सर्प/पर्वतअघ : पाप
अगम: जहाँ जाना संभव नहींआगम : शास्त्र/आना
अचल : पर्वतअचला : पृथ्वी
अर्चन : पूजाअर्जन : संग्रह
अजर : आँगनअजिर : आँगन
अतल : गहराअतुल : तुलना न हो
अद्य : आजआद्य : पहला
अतीत : बीता हुआअतीव : बहुत ज्यादा
अनल : आगअनिल : हवा
अनुग : अनुयायीअनुज : छोटा भाई
अन्तर्देशीय : देश के भीतरअन्तरदेशीय : देशों के बीच
अनमिज्ञ : अनजानअभिज्ञ : जानकार
अनु : पीछेअणु : कण
अपकार : बुराईउपकार : भलाई
अनिष्ट : बुराअनिष्ठ : निष्ठाहीन
अभिनय : नाटक खेलनाअभिनव : नया
अपमान : निरादरउपमान : जिससे उपमा दी जाय।
अपेक्षा : आशा/तुलनाउपेक्षा : अवहेलना
अभिराम : सुन्दरअविराम : लगातार
अभिज्ञ : जानकारअविज्ञ : मूर्ख
अभय : निडरउभय : दोनों
अमूल : बिना जड़ काअमूल्य : अनमोल
अरि : दुश्मनअरी : सम्बोधन
अवलम्ब : सहाराअविलम्ब : शीघ्र
अवगत : ज्ञातअविगत : अव्यक्त/ दूर
अविहित : विधि विरूद्धअभिहित : कथित/उक्त
अवदान : प्रशंसित कार्यअवधान : योग/ध्यान
अवधि : समयअवधी : भाषा विशेष
अव्यय : जो खर्च न होअवयव : अंग/भाग
अवशेष : बाकीअविशेष : सामान्य
अवमर्श : स्पर्श/सम्पर्कअवमर्ष : आलोचना
अलि : भ्रमरआली : सम्बोधन
अलक : बालअलिक : ललाट
अलिक : ललाटअलीक : झूठा
अलोक : अदृश्यआलोक : प्रकाश
अश्व   : घोड़ाअस्व : पराया
अश्व : घोड़ाअश्म : जीवाश्म
अशीलता : उद्दण्डताअसिलताः तलवार
अशर : बिना बाणअसर : प्रभाव
अशक्त : निर्बलअसक्त : उदासीन
अस्त : छिपनाअस्तु : अच्छा
असक्त : उदासीनआसक्त : मोहित
असाध : कठिनअसाधु : दुष्ट
अस्ति : हैअस्थि : हड्डी
अह : दिनअहि : सर्प
अक्ष : धुरीअक्षि : आँख
अंश : हिस्साअंस : कंधा

 

 

अंगना : स्त्रीआँगन : आँगन
अदृश्य : जो दिखाई न देअदृष्ट : भाग्य
अभिसार : छिपकर मिलनाअभीसार : आक्रमण
अयश : बदनामीअयस : लोहा
अभिनन्दन : स्वागतअभिवादनः नमस्कार
आदि : प्रारम्भिकआदी : आदत वाला
आधि : मानसिक कष्टव्याधि : शारीरिक कष्ट
आकर : खानआकार : बनावट/रूप
आपाद : पैर तकआपात् : आकस्मिक
आभरण : आभूषणआवरण : पर्दा
आभरण : आभूषणआमरण : मृत्युपर्यन्त
आयत : आकृति विशेषआयात : बाहर से मँगाना
आय : आमदनीआयु : उम्र
आयास : श्रमआवास : घर
आरति : विरामआरती : पूजा
आरि : जिद्दआरी : काटने का औजार
आहुत : हवन सामग्रीआहूत : बुलाया हुआ
आवृत : ढका हुआआवृत्ति : दोहराना
आस्तिक : ईश्वर को मानने वालाआस्तीक : ऋषि विशेष
इति : समाप्तिईति : दैविक आपदा
इतर : अन्य/भिन्नइत्र : सुगन्धित पदार्थ
उक्ति : कथनयुक्ति : दलील
उदात्त : उच्चउदार : दानी
उत्पल : कमलउपल : पत्थर/ओले
उद्वेक : वृद्धिउद्वेग : चिन्ता
उधार : ऋणउद्धार : मोक्ष
उद्यम : श्रमऊधम : शरारत
उपयुक्त : उचितउपर्युक्त : ऊपर कहा हुआ
उपादान : सामग्रीउपधान : तकिया
उद्धरण : उतारनाउदाहरण: दृष्टान्त
उर : हृदयऊरू : जाँघ
ओटना : बिनौले अलग करनाऔटाना : खौलना
ओट : आड़ओठ : होंठ
ओर : तरफऔर : दूसरा
कच : बालकुच : स्तन
कटक : सेनाकंटक : काँटा
कटिबन्ध : कमर का आभूषणकटिबद्ध : तैयार
कपट : छलकपाट : द्वार
कर्ण : कानकरण: साधन
कथा : कहानीकंथा : गुदड़ी
कर्म : कामक्रम : सिलसिला
कलि : कलयुगकली : कलिका
कलुष : पापकुलिश : वज्र
कलश : घटकलुष : पाप
कान : कर्णकानि : मर्यादा
काय : शरीरनिकाय : समूह/राशि
कान्ति : चमकक्रान्ति : परिवर्तन
कुल : वंश/सबकूल : किनारा
कुण्डल : कान का आभूषणकुन्तल : बाल
केत : घरकेतु : ध्वज

 

 

कुच : स्तनकूच : प्रस्थान
कोसल : अवधकौशल : निपुणता
कोर : किनाराकौर : ग्रास
कंगाल : गरीबकंकाल : अस्थि -पंजर
कृत : किया हुआकृत्य : कार्य
कृपण : कंजूसकृपाण : तलवार
कृतज्ञ : उपकार माननाकृतघ्न : उपकार न मानना
खाद्य : खाने योग्यखाद : उर्वरक
गण : समूहगण्य : गिने जाने योग्य
गदा : अस्त्रगधा : गर्दभ
गत : बीता हुआगति : चाल
गर्त : गड्डागर्द : धूल
गर्व : अभिमानगर्भ : आन्तरिक भाग
ग्रह : नक्षत्रगृह : घर
ग्रंथि : गाँठग्रन्थी : गुरुग्रंथ पढ़ने वाला
गुरु : शिक्षकगुर : उपाय
गेय : गाने योग्यज्ञेय : जानने योग्य
घट : घड़ाघाट : किनारा
घन : बादलघण : हथौड़ा
चतुष्पद : चौपायाचतुष्पथ: चौराहा
चपल : चंचलचपला : बिजली
चर्म : चमड़ाचरम : अन्तिम
चिर : सदैवचीर : वस्त्र
चिन्ता : सोचचिता : मृतक दाहाग्नि
चरित : जीवनीचरित्र : आचरण
छात्र : विद्यार्थीक्षात्र : क्षत्रिय संबंधी
जगत् : संसारजगत : कुएँ की मुण्डेर
तर्क : बहस/युक्तितक्र : छाछ
तरणि : सूर्यतरणी : नाव
तरंग : लहरतुरंग : घोड़ा
दशा : हालातदिशा : तरफ
दिन : दिवसदीन : गरीब/असहाय
दिवा : दिनदीवा : दीपक
दुति : चमकदूती : संदेशवाहिका
दूत : संदेशवाहकद्यूत : जुआ
देव : देवतादैव : भाग्य
धरा : पृथ्वीधारा : नदी/प्रवाह
धनु : धनुषधेनु : गाय
नाक : स्वर्ग/नासिकानाग : हाथी/सर्प
निर्जर : देवतानिर्झर : झरना
निधन : मृत्युनिर्धन : गरीब
निन्दा : बुराईनिद्रा : नींद
निदेश : आज्ञानिर्देश : निरूपण/दिशा निर्देश
निर्माण : रचनानिर्वाण : मोक्ष
नियन्त्रण : बन्धननिमन्त्रण : न्यौता
निश्छल : छल रहितनिश्चल : अचल
नीर : पानीनीड़ : घोंसला
परिणत : रूपान्तरपरिणीत : विवाहित
परवाह : चिन्ताप्रवाह : बहाव
पहर : समयप्रहार : चोट

 

परिधान : वस्त्रप्रधान : मुख्य
परिवर्तन : रूपान्तरप्रवर्तन : संचालन/प्रारम्भ
परिताप : दुःखप्रताप : पराक्रम
परुष : कठोरपुरुष : व्यक्ति
परिणाम : फलपरिमाण : नाप तोल
पर्यंक : पलंगपर्यन्त : सीमा तक
प्रमाण : सबूतप्रणाम : नमस्कार
प्रसाद : कृपा/भोगप्रासाद : राजमहल
प्रवाद : जनश्रुतिप्रमाद : भूलचूक/आलस्य
प्रकार : ढंग/भेदप्राकार : परकोटा
प्रथा : रीतिपृथा : कुन्ती
प्रेषक : भेजने वालाप्रेक्षक : देखने वाला
प्रभाव : असरप्रवाह : बहाव
प्रतीप : विपरीतप्रदीप : दीपक
प्रश्न : सवालप्रसन्न : खुश
पुष्कर : जलाशय/तीर्थराजपुष्कल : अत्यधिक
पानी : जलपाणि : हाथ
पायस : खीरपावस : वर्षा
पेय : पीने योग्यप्रेय : प्रिय
पंक : कीचड़पंख : पर
बदन : शरीरवदन : मुँह
बलि : भेंटबली : बलवान
बान : आदतबाण: तीर
बहु : बहुतबहू : वधू
बेल : लताबैल : वृषभ
बात : बातचीतवात : वायु
बेर : एक प्रकार का फलबैर : दुश्मनी
भवन : घरभुवन : लोक/संसार
मन्थर : धीमेमन्थरा : दासी विशेष
मल : मैलमल्ल : पहलवान
मात्र : केवलमातृ : माता
रंक : गरीबरंग : वर्ण
लता : बेललत्ता : कपड़ा
लक्ष : लाखलक्ष्य : उद्देश्य
वर्ण : रंगव्रण : घाव
वरण : चुननावारण : हाथी
वसन : वस्त्रव्यसन : बुरी आदत
वसुदेव : कृष्ण के पितावासुदेव : कृष्ण
विधा : गद्य/पद्य का प्रकारविद्या : ज्ञान
विचक्षण : ज्ञाता, निपुणविलक्षण : अनोखा
विवरण : ब्यौराविवर्ण : रंगहीन
वितरण : बाँटनाविवरण : ब्यौरा
विरूद : यशविरूद्ध : खिलाफ
विषमय : जहरीलाविस्मय : आश्चर्य
व्यजन : पंखाव्यंजन : पकवान/वर्ण
व्याज : बहानाब्याज : सूद
वृत : घेराव्रत : उपवास
शर : बाण पवित्रसर : तालाब
शस्त्र : हथियारशास्त्र : धार्मिक ग्रंथ
शम : शांतिसम : बराबर
शुचि : पवित्रशची : इन्द्राणी
शूर : वीरसूर : सूर्य, अंधा
शुल्क : फीसशुक्ल : श्वेत
शंकर : शिवसंकर : मिश्रण
श्वेत : सफेदस्वेद : पसीना
श्वजन : कुत्तास्वजन : परिजन/अपना
श्रमण : भिक्षुश्रवण : सुनना/कान
शप्त : शाप दिया हुआसप्त : सात
शती : सौ वर्षसती : पतिव्रता स्त्री
सदेह : सशरीरसंदेह : शंका
समान : बराबरसम्मान : इज्जत
सर्वदा : हमेशासर्वथा : बिलकुल
सिल : पत्थरसील: मुहर
सिता : मिश्रीसीता : जानकी
सुत : पुत्रसूत : धागा/सारथी
स्वगत : अपना कथनस्वागत : आदर
सुधा : अमृतक्षुधा : भूख
हर : महादेवहरि : विष्णु
हरि : विष्णुहरी : हरे रंग की
ह्रास : हानिहास : हँसी
क्षिति : पृथ्वीक्षति : हानि
हेम : स्वर्णहोम : यज्ञ
हंस : मराल (एक पक्षी विशेष)हँस : हँसना

 

Facebook Comments